पीएचई ठेकेदार पर मंत्री प्रद्धुमन विफर गए, ठेकेदार बैठक छोड़कर भाग गया

मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री और विधायक बिजली और पानी की समस्या को लेकर अब सरकार मशीनरी पर एक्शन के मूड में है…. ताजा मामला ग्वालियर जिले का है। जहां कैबिनेट मंत्री प्रद्धुमन सिंह तोमर ने नगर निगम और पीएचई के आधिकारियों से लेकर ठेकेदारों की जमकर क्लास लगा दी। प्रद्धुमन सिंह तोमर पानी की समस्या को लेकर निगम के दफ्तर में बैठक ले रहे थे। तभी पीएचई के ठेकेदार धुव्र अग्रवाल के जबाबों पर प्रद्धुमन सिंह तोमर विफर गए। उन्होनें ठेकेदार पर निगम कमिश्नर को एफआईआर कराने के तुरंत आदेश दे दिए। आनन-फानन में ठेकेदार बैठक को बीच में ही छोड़कर भाग गया।
दरअसल ग्वालियर में पानी की समस्या को लेकर हर रोज प्रदर्शन हो रहे है। जिसके चलते लोग विधायक और मंत्रियों का भी घेराव रहे है.. जिसको लेकर आज निगम और पीएचई के आधिकारियों की बैठक प्रद्धुमन सिंह तोमर ने बुलाई। इस दौरान पानी का पाइप लाइनों को लेकर ठेकेदार धुव्र अग्रवाल जबाब नही दे पाया। साथ ही मंत्री प्रद्धुमन सिंह को गुमराह करने लगा। जिसके बाद मंत्री प्रद्धुमन सिंह बीच बैठक में उस पर चिल्लाने लगे…. “तुम्हारी गलत पानी की गड्डा खुला छूट गया, जिसमें वो बच्चा डूब के मर गया”। बहरहाल मंत्री मंत्री प्रद्धुमन सिंह तोमर ने ग्वालियर विधानसभा में पानी की समस्या को लेकर एक कंट्रोल रूम बनाने के आदेश निगम के अफसरों को दिए है। साथ ही ये भी आदेश दिया है, कि पानी की पाइप लाइन के गड्डों से अगर कोई दुर्घटना होती है, तो उसकी जिम्मेदारी ठेकेदार और इंजीनियर की होगी… उन पर पांच हजार रूपए का जुर्माना और एफआईआर कराई जाएंगी। इसके साथ ही प्रद्धुमन सिंह तोमर ने कहा कि कुछ सरकारी कर्मचारी पानी और बिजली की समस्या पैदा कर रहे है, लेकिन वह सुधर जाएं… नही तो जेल जाएंगे।
प्रद्धुमन सिंह तोमर ने कहा कि सालों से निगम के सिस्टम में काई लगी हुई है, हटाने में वक्त लगेगा.. लेकिन निगम के आधिकारियों की अब जिम्मेदारी तय होगी, नही तो कार्रवाही होगी…..
0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *