दिग्विजय सिंह भोपाल से होंगे कांग्रेस उम्मीदवार, 16 साल बाद कोई चुनाव लड़ेंगे

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का भोपाल लोकसभा सीट से टिकट पक्का हो गया है। मौजूदा सीएम कमलनाथ ने शनिवार को इसके संकेत दिए। दिग्विजय 16 साल बाद चुनावी राजनीति में एंट्री कर रहे हैं। उन्होंने इससे पहले 2003 में मप्र विधानसभा का चुनाव लड़ा था। सत्ता गंवाने के बाद दिग्विजय ने 10 साल तक चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा की थी। 2014 में कांग्रेस ने उन्हें राज्यसभा में भेजा। इस बार उन्होंने मध्यप्रदेश की किसी भी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी।
दरअसल, यह पासा मुख्यमंत्री कमलनाथ ने फेंका था। उन्होंने कहा था कि बड़े नेताओं को मुश्किल सीटों से लड़ना चाहिए। इसके बाद ही दिग्विजय कहीं से भी लड़ने को तैयार हो गए थे। उनके भोपाल और इंदौर से लड़ने की चर्चा शुरू हुई। हालांकि, दिग्विजय की रुचि इंदौर से ज्यादा भोपाल में थी। इंदौर में उनका कोई मददगार नहीं है। भाजपा सांसद सुमित्रा महाजन के रहते कैलाश विजयवर्गीय शांत रहें, यही एकमात्र मदद दिग्विजय की हो सकती थी। लेकिन इसकी भी अब उम्मीद नहीं है, क्योंकि विजयवर्गीय को भाजपा ने पश्चिम बंगाल भेज रखा है। भोपाल में मुस्लिम वोटर्स की ज्यादा तादाद दिग्विजय के लिए मददगार साबित हो सकती है। ये बात और है कि कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद उनके साथ घूमे तो दिक्कत भी हो सकती है।

7Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *